कल कश्मीर में आतंकवादियों से लड़ते हुए शहीद हुए CRPF इन्स्पेक्टर पिंटू सिंह के परिवार वालों को प्रशासन कोई जानकारी नहीं दे रहा है। जानते है क्यों?

कल कश्मीर में बिहार निवासी CRPF इन्स्पेक्टर पिंटू सिंह आतंकियों से लड़ते हुए शहीद हो गए लेकिन प्रशासन उनके परिवार वालों को कोई जानकारी नहीं दे रहा है। जानते है क्यों


589
423 shares, 589 points

कल कश्मीर में बिहार निवासी CRPF इन्स्पेक्टर पिंटू सिंह आतंकियों से लड़ते हुए शहीद हो गए लेकिन प्रशासन उनके परिवार वालों को कोई जानकारी नहीं दे रहा है। जानते है क्यों?

क्योंकि कल पटना, बिहार में प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की संकल्प रैली है। अगर शहादत की ख़बर जायेगी तो वीआईपी मूवमेंट पर असर पड़ेगा। रैली को लेकर सवाल जवाब होंगे? सरकार को शहीद का पार्थिव शरीर लेने पटना Airport रहना होगा और वहीं मोदी जी का जहाज़ भी उतरना है। रैली में भंग पड़ेगा। रैली की ख़बर नहीं बनेगी।

और आप कहते है कि मोदी शहीदों को लेकर राजनीति नहीं कर रहे?

शहीद पर जब सियासत होनी शुरु हो जाती है तो सिस्टम कितना बेशर्म हो जाता है इसकी एक बानगी देखिए
बिहार के बेगूसराय का लाल पिन्टू सिंह सोमवार सॉरी शुक्रवार कि सुबह कश्मीर में आतंकी से लड़ते हुए शहीद हो गये। इसके साथ उस मुठभेड़ में जमुई का एक जवान भी था शाम तक जब शहीद अधिकारी और पाँच जवानों को लेकर पूरा महकमा खामोश रहा तो जमुई के उस जवान ने अपने घर इस घटना कि जानकारी देते हुए कहा कि पिंटू के घर सूचना दे दो ।

कल शाम आठ बजे हमारा जमुई संवाददाता इसकी जानकारी मुझे दिया मैं बेगूसराय रिर्पोटर को तहकीकात करने को कहाँ तो पता चला कल दोपहर से ही पिंटू का मोबाइल नोट रिचेबुल बता रहा है। उसका भाई सीआरपीएफ के बेस कैम्प फोन करके भाई किस हाल में इसकी जानकारी लेना चाह रहा है कोई कुछ भी बताने को तैयार नहीं है पूरी रात फोन करता रह गया लेकिन कोई कुछ बताने को तैयार नहीं है ।

अभी थोड़ी देर पहले फिर उसका भाई फोन किया तो फोन ड्यूटी हा ना हा ना कर रहा था तभी कोई बिहारी जवान फोन लेकर पिंटू के शहीद होने कि बात बता दिया ।शहीद होने कि सूचना क्यों छुपाई जा रही तो पता चला पटना भीभीआईपी मूवमेन्ट पर असर ना पड़े इसका ख्याल रखा जा रहा है ।

वैसे हमलोगों खबर चलाना शुरु कर दिए देखिए कब तक शहीद के शहादत कि सूचना को रोक कर रखते हैं।वैसे अभी 10.10 मिनट पर पटना स्थित सीआरपीएफ के अधिकारी को फोन किया है अधिकारिक तौर पर कोई भी कुछ भी बताने को तैयार खबर चलने के बाद प्रशासन हरकत में आयी है मुझसे ही कन्फर्म करना चाह रही है ।
पिंटू सिंह सीआरपीएफ में इन्सपेक्टर थे ।


Like it? Share with your friends!

589
423 shares, 589 points

What's Your Reaction?

hate hate
16
hate
confused confused
66
confused
fail fail
41
fail
fun fun
33
fun
geeky geeky
25
geeky
love love
83
love
lol lol
8
lol
omg omg
66
omg
win win
41
win
Umair Farooqui
The Fearless Reporter Of India,

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Choose A Format
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Meme
Upload your own images to make custom memes
List
The Classic Internet Listicles